गंगोत्री के बाद आज बाबा केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के कपाट भी शीतकालीन के लिए किए गए बंद - Daily Lok Manch PM Modi USA Visit New York Yoga Day
February 22, 2024
Daily Lok Manch
उत्तराखंड धर्म/अध्यात्म

गंगोत्री के बाद आज बाबा केदारनाथ और यमुनोत्री धाम के कपाट भी शीतकालीन के लिए किए गए बंद

आज भैया दूज के साथ दीपावली पर्व का उत्सव भी समापन हो रहा है। ऐसे ही उत्तराखंड में स्थित चार धामों के कपाट बंद होने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। यहां से श्रद्धालुओं वापसी कर रहे हैं। बता दें कि शुक्रवार गोवर्धन पूजा के दिन गंगोत्री धाम के कपाट विशेष पूजा-अर्चना के बाद 6 महीने (शीतकालीन) के लिए बंद कर दिए गए थे। आज इसी कड़ी में भैया दूज पर सुबह आठ बजे ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ मंदिर के कपाट आज भैया दूज पर पूजा-प्रक्रिया के बाद विधि-विधान से शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए। ‌सेना के बैंड की भक्तिमय धुनों के साथ कपाट बंद होने के बाद पंचमुखी विग्रह मूर्ति विभिन्न पड़ावों से होते हुए शीतकालीन गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर ऊखीमठ में विराजमान होंगे। अगले छह माह भोले बाबा के दर्शन यहीं होंगे। सुबह छह बजे पुजारी बागेश लिंग ने केदारनाथ धाम के दिगपाल भगवान भैरवनाथ का आह्वान कर धर्माचार्यों की उपस्थिति में स्यंभू शिव लिंग को विभूति और शुष्क फूलों से ढंककर समाधि रूप में विराजमान किया गया। ठीक सुबह आठ बजे मुख्य द्वार के कपाट शीतकाल के लिए बंद कर दिए गए । इस अवसर पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु कपाट बंद होने के साक्षी रहे।


सात नवंबर को केदारनाथ की डोली विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी प्रवास के लिए पहुंचेगी। आठ नवंबर को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी डोली के पंच केदार गद्दी स्थल ओंकारेश्वर मंदिर में विराजमान हो जाएगी। इसी के साथ भगवान भगवान केदारनाथ की शीतकालीन पूजा शुरू होगी। बता दें कि 5 नवंबर शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बाबा केदारनाथ धाम आकर पूजा-अर्चना की थी। इसके बाद पीएम मोदी ने यहां आदि गुरु शंकराचार्य की प्रतिमा का भी अनावरण किया था। बाबा केदारनाथ धाम कपाट के बंद होने के 4 घंटे बाद यमुनोत्री धाम के कपाट भी पूरे विधि विधान के साथ दोपहर 12:15 बजे शीतकालीन बंद कर दिए गए। इसके बाद शनि महाराज के नेतृत्व यमुना की डोली अपने शीतकालीन प्रवास स्थल खरसाली पहुंचेगी। इससे पहले सुबह शीतकालीन पड़ाव खरसाली से समेश्वर देवता (शनि देव) की डोली अपनी बहन यमुना को लेने धाम पहुंची। खरसाली स्थित मां यमुना के मंदिर को सजाने के लिए फूल मंगाए गए हैं। मंदिर को भव्य तरीके से सजाया गया है।
बता दें कि चारों धामों में से भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट इसी महीने 20 नवंबर को शीतकालीन के लिए बंद किए जाएंगे।

Related posts

पुष्कर सिंह धामी मंत्रिमंडल में यह आठ मंत्री लेंगे शपथ, शपथ समारोह कुछ देर में होगा शुरू

admin

Himachal Pradesh Heavy Rain VIDEO : राज्य में चारों ओर तबाही का मंजर : हिमाचल प्रदेश में बारिश का तांडव, पानी के सैलाब में दो और ऐतिहासिक पुल चंद सेकंड में ही बह गए, देखें दिल दहला देने वाला वीडियो, प्रसिद्ध पंचवक्त्र महादेव मंदिर पानी के सैलाब में घिरा

admin

उत्तराखंड स्थित सिखों के पवित्र धाम हेमकुंड साहिब के कपाट श्रद्धालुओं के लिए खोले गए

admin

Leave a Comment